PM मोदी को चुनौती, 56 इंच का सीना है तो अयोध्या पर लाएं अध्यादेश:ओवैसी

Nitty News सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले पर सुनवाई को जनवरी तक के लिए टाल दिया है। वहीं इसे लेकर सियासत भी गरमा गई है। एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने आज कहा कि कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाना गलत है।

देश संविधान से ​ही चलेगा
ओवैसी ने कहा कि अध्यादेश के नाम पर किसको डराया जा रहा है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि 56 इंच का सीना है तो अध्यादेश लेकर आएं। देश संविधान से ​ही चलेगा। एआईएमआईएम प्रमुख ने गिरिराज सिंह के बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि पीएम उन्हे कोर्ट में खड़ा करें।

गिरिराज सिंह ने दिया था विवादित बयान 
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले भाजपा नेता एवं केंद्रीय राज्यमंत्री गिरिराज सिंह ने बयान दिया था कि अब राम मंदिर मामले को लेकर हिंदुओं का सब्र टूट रहा है, मुझे भय की हंदुओं का सब्र टूटा तो क्या होगा। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर ही बनेगा।

क्या है मामला
गौरतलब है कि राम मंदिर के लिए होने वाले आंदोलन के दौरान 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिरा दिया गया था। इस मामले में आपराधिक केस के साथ-साथ दिवानी मुकदमा भी चला। टाइटल विवाद से संबंधित मामला सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग है। 30 सितंबर 2010 को इलाहाबाद हाई हाई कोर्ट ने दिए फैसले में कहा था कि तीन गुंबदों में बीच का हिस्सा हिंदुओं का होगा जहां फिलहाल रामलला की मूर्ति है।

Nitty News

Our team working in latest and trending news. We are provinding truth news.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *